Raksha Bandhan Kab Hai 2022 में रक्षाबंधन कब की है? best जानकारी हिंदी में

Raksha Bandhan Kab Hai,2022 में रक्षाबंधन कब की है,is saal raksha bandhan kab hai
Raksha Bandhan Kab Hai

बहुत से लोग गूगल में यह जानने आते है की Raksha Bandhan Kab Hai क्यूंकि हर साल त्यौहार बदलते रहते है और लोगो को गूगल में 2022 में रक्षाबंधन कब की है? यह सर्च करना पड़ता है

दोस्तों रक्षाबंधन के दिन बहने अपने भाई को राखी बंधती है और अपने भाई की लम्बी उम्र के लिए प्रार्थना करती है और साथ ही भाई भी अपनी बहन को उसकी रक्षा करने का वचन देता है यह त्योहार भारत मनाया जाता है ,भाई बहन के इस खास त्योहार की तरीक इस साल यानिके 2022 में 11 अगस्त गुरुवार के दिन मनाया जायेगा

हमने आपके लिए Raksha Bandhan Kab Hai और इसका क्या इतिहास है रक्षा बंधन के लिए कोनसा सही महूरत है यह सब हमने आपको इस आर्टिकल में जानकारी देंगे जिस से आप को रक्षा बंधन के लिए एक सही महूरत का पता चल जाये और आप आपने भाई की लम्बी उम्र के लिए उन्हें राखी बांध सके|

यह भी जरूर पढ़े –गूगल का मतलब क्या होता

Sabse Sasta Diet Plan| Weight Gain Diet Chart In Hindi|

Raksha Bandhan Kab Hai|is saal raksha bandhan kab hai

रक्षाबंधन के दिन बहने अपने भाई को राखी बंधती है और अपने भाई की लम्बी उम्र के लिए प्रार्थना करती है और साथ ही भाई भी अपनी बहन को उसकी रक्षा करने का वचन देता है यह त्योहार भारत मनाया जाता है ,भाई बहन के इस खास त्योहार की तरीक इस साल यानिके 2022 में 11 अगस्त गुरुवार के दिन मनाया जायेगा

रक्षा बंधन का त्योहार इस साल बहुत ही ख़ास होने वाला है क्यूंकि Raksha Bandhan का त्योहार रवि योग में मनाया जायेगा और रवि योग में Raksha Bandhan लिए यह बहुत ही अच्छा दिन है दोस्तों पहले जानते है की रक्षा बंधन का क्या इतिहास है

Raksha Bandhan Kab Hai|रक्षा बंधन का क्या इतिहास है

  • दोस्तों आपको बता दे की असल में रक्षा बंधन की जो परम्परा है वो उन्ह बहनों ने रक्षा बंधन की परम्परा की शुरुआत की थी जिनके कोई सगे भाई नही थे उन्ह बहनों ने अपने संरक्षन के लिए इस रक्षा बंधन की शुरुआत भले ही क्यूँ न की हो पर आज वो उन्ह बहनों की वजह से ये रक्षा बंदन का त्य्होअर आज भी बरकरार है
  • दोस्तों रक्षा बंधन की त्योहार की शुरुआत अगर हम देखे तो हमे इतिहास से पता चलता है की रक्षा बंदन की शुरुआत आज से लगभग 6 हजार साल से पहले की बताई जाती है देखा जाए तो इसके और भी कई ऐसी कहानिया है
  • रक्षा बंधन का इतिहास हिन्दू धर्म के अनुसार जब कृषण भगवान् जी ने शिशुपाल का वध किया था तो श्री कृषण जी की बाएँ हाथ की उंगली से खून निकलने लग गया था द्रोपदी को यह देख कर बहुत दुःख हुआ और फिर द्रोपदी ने अपनी साडी का एक टुकड़ा फाड़ कर श्री कृषण जी की ऊँगली पर बाँध दिया और तब से रक्षा बंधन का त्योहार मनाया जाता है यह तो था रक्षा बंधन का इतिहास अब देखते है की Raksha Bandhan Kab Hai ,is saal raksha bandhan kab hai
  • राखी यानिके रक्षा बंधन की सबसे शुरुआत पहले रानी कर्णावती ने की थी मध्कालीन युग में मुस्लिमो व राजपूतो के बीच बहुत बड़ा संगर्ष चल रहा था उस समय रानी कर्णावती चित्तोड़ के राजा की विधवा बीवी थी गुजरात के सुल्तान बहादुर शाह ने अपनी रक्षा और साथ ही में अपनी पर्जा की रक्षा का कोई समाधान नहीं था और फिर रानी कर्णावती ने अपने प्रजा के बचाव के लिए हुमायूँ को राखी भेजी थी और फिर हुमायूँ ने रानी कर्णावती को अपनी बहन मान कर उसकी रक्षा करने का वचन दिया था

रक्षा बंधन की तरीक

वैसे तो हर साल रक्षा बंधन का त्योहार सावन के महीने पूर्णिमा को मनाया जाता है लेकिन हम आपको इस साल रक्षा बंधन की तिथि सावन मास के शुकल पक्ष की पूर्णिमा दिन गुरुवार 11 अगस्त की सुबह समय 10:38 से लेकर 12 अगस्त दिन शुक्रवार की सुबह 7:05 मिनट पर रक्षा बंधन समाप्त हो जाएगी अब देखते है की रक्षा बंदन का शुभ महूरत कौनसा है

रक्षा बंधन के लिए शुभ महूरत कोनसा है

Raksha Bandhan Kab Hai – अप सबको तो पता ही है की हर किसी काम के लिए शुभ समय का होना जरूरी है इस लिए रक्षा बंदन के दिन आप जब अपने भाई को राखी बांधेगी तो उसके लिए भी आप शुभ महूर्त का होना जरूरी होता है राखी बंधने का शुभ महूरत इस बार सुबह के 9 बजकर 28 मिनट से लेकर रात के 9 बजकर 14 मिनट तक सही शुभ महूरत रहेगा

क्यूंकि इस दिन सुबह 5:48 से लेकर 6:53 मिनट तक रवि योग रहेगा और शाम के 6 बजकर 55 मिनट से रात के 8:20 तक अमृत योग रहेगा दोस्तों माना जाता है की राखी के दिन भद्रा का ख़ास ध्यान रखा जाता है क्यूंकि हिन्दू धर्म के शाश्त्रो के अनुसार भद्रकाल में बहन अपने भाई को राखी नहीं बाँध सकती कक्यूंकि इस दिन राखी बांधना शुभ नहीं मन जाता

बहन अपने भाई के लिए राखी बांधने की विधि जाने

Raksha Bandhan Kab Hai – बहन को अपने भाई की कलाई पर राखी बांधने का सही समय देखकर एक थाली में चन्दन,रोली,अक्षत ,राखी ,दही,घी का दीपक और मिठाई को रखे, सबसे पहले पूजा का थाली से भगवान की आरती करे और फिर उसके बाद अपने भाई को पूर्व या फिर उतर दिशा की तरफ मूह करकर बिठाये

फिर बहन को अपने भाई के माथे पर तिलक लगाना होगा और फिर बहन अपने भाई को रक्षासूत्र बांधना होगा और फिर बहन को अपने भाई की आरती उतारनी होगी और सुके बाद अपने भाई को मिठाई खिलानी है और बहन को अपने भाई के लिए कामयाबी, उनके सेहत के बारे और अपने भाई की लम्बी उम्र की कामना करनी है साथ में भाई भी अपनी बहन की रक्षा करने का वादा करता है

आखरी शब्द- तो आपको Raksha Bandhan Kab Hai यह जानकारी कैसी लगी अगर आप को यह अच्छी लगी तो आप अपने दोस्तों में शेयर कर सकते है और साथ ही आप अपने सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते है

Raksha Bandhan Kab Hai

साल रक्षा बंधन का त्योहार सावन के महीने पूर्णिमा को मनाया जाता है लेकिन हम आपको इस साल रक्षा बंधन की तिथि सावन मास के शुकल पक्ष की पूर्णिमा दिन गुरुवार 11 अगस्त की सुबह समय 10:38 से लेकर 12 अगस्त दिन शुक्रवार की सुबह 7:05 मिनट पर रक्षा बंधन समाप्त हो जाएगी

2022 में रक्षाबंधन कब की है?

रक्षा बंधन की तिथि सावन मास के शुकल पक्ष की पूर्णिमा दिन गुरुवार 11 अगस्त की सुबह समय 10:38 से लेकर 12 अगस्त दिन शुक्रवार की सुबह 7:05 मिनट पर रक्षा बंधन समाप्त हो जाएगी

रक्षा बंधन कब से और क्यों मनाया जाता है?

दोस्तों आपको बता दे की असल में रक्षा बंधन की जो परम्परा है वो उन्ह बहनों ने रक्षा बंधन की परम्परा की शुरुआत की थी जिनके कोई सगे भाई नही थे उन्ह बहनों ने अपने संरक्षन के लिए इस रक्षा बंधन की शुरुआत भले ही क्यूँ न की हो पर आज वो उन्ह बहनों की वजह से ये रक्षा बंदन का त्य्होअर आज भी बरकरार है

1 thought on “Raksha Bandhan Kab Hai 2022 में रक्षाबंधन कब की है? best जानकारी हिंदी में”

Comments are closed.